Sunday, November 17, 2013

एक प्याली चाय आम नहीं होती..


कल बहन से बात हुई..तो अमरीका के मौसम का पता चला, आजकल बर्फ पड़ रही है वहां। यहां आज हवा तेज़ थी, शाम को चाय पीते-पीते उसकी बहुत याद आई.. 



एक प्याली चाय.. आम नहीं होती 
न हो तो सर्द रातें आसान नहीं होती
हल्की ठण्डक है यहां..और हम परेशान हुए जाते हैं
कभी शौल ओढ़ते हैं तो कभी चाय-कॉफी का सहारा लेते हैं 
सोचती हूं कि दिसम्बर की सर्दियां कैसे बिताएंगे,
हाय.. हम तो ठण्ड में जम ही जायेंगे
सोचते सोचते बस उसका ख़याल आ गया
इतनी ठण्ड में माथे से पसीना आ गया
हम तो बस यूं ही परेशान हुए जाते हैं
एक वो हैं जो बर्फ में भी जीवन बिताते हैं
हल्की सी सर्द जो हवाएं हुईं
ख़राशें-छींके तो अब आम हुईं
चल रही है वो सफेद हुई सड़कों पर
संभाल रही है खुद को बर्फीली हवाओं में
और हरा रही है ठण्ड को 
बर्फ के गोले बनाकर
पूछा उससे कि कैसे रहती है वो इतनी ठण्ड में
जवाब बस वही..
एक प्याली चाय आम नहीं होती..

                                                                                           Missing you Payal...

10 comments:

  1. सही कहा ..........एक प्याली चाय आम नहीं होती .......

    ReplyDelete
  2. सच है अमरीका ब्रिटेन मे यहाँ से कई गुना ज़्यादा ठंड पड़ती है। वहाँ का मौसम जनने -समझने से लगता है कि यहाँ की ठंड तो कुछ भी नहीं।
    एक प्याली चाय आम हो भी नहीं सकती उसे तो खास लोगों के साथ खास बनना ही पड़ता है :)

    सादर

    ReplyDelete
  3. अमेरिका में गरीबो का भी ख्याल रखा जाता है .... अमीरो का क्या कहना .....
    भारत में फुटपाथ पर बसेरा करने वाले , चाय के चुस्की के साथ ही रात गुजारा करते हैं
    हार्दिक शुभकामनायें

    ReplyDelete
  4. एक प्याली चाय संजीवनी बन जाती है कभी कभी और सर्दियों एमिन तो खास कर ...
    भावपूर्ण लिखा है ...

    ReplyDelete
  5. हम लोगों के लिए क्या ठण्ड;
    ठण्ड बढ़ेगी तो एक दो परते स्वेटर कि और लाद लेंगे
    ठण्ड तो गरीब के लिए है या फूटपाथ पर सोने वाले के लिए जो सर्दी और गर्मी दोनों ही एक ही तरह बिताने को मजबूर है। सुन्दर रचना। एक बहन कि मनोदशा उसकी बहन ही समझ सकती है।

    ReplyDelete
  6. कल 20/11/2013 को आपकी पोस्ट का लिंक होगा http://nayi-purani-halchal.blogspot.in पर
    धन्यवाद!

    ReplyDelete
  7. कितनी भी सर्दी पड़े...एक प्याली चाय हो और मोहब्बत से भरा दिल हो........ज़िन्दगी आसां हो जाती है...

    अनु

    ReplyDelete
  8. आपकी इस प्रस्तुति का लिंक 21-11-2013 की चर्चा में है
    कृपया चर्चा मंच पर पधारें
    धन्यवाद

    ReplyDelete

आपके कमेंट्स बेहद अनमोल हैं मेरे लिए...मेरा हौसला बढ़ाते हैं...मुझे प्रेरणा देते हैं..मुझे जोड़े रखते आप लोगों से...तो कमेंट ज़रूर कीजिए।