Saturday, July 20, 2013

देख रही हूं..



तेरी मासूम सी हस्ती है... 
और मेरी अथाह उम्मीदें
तुझे ठोकरों से संभलते देख रही हूं

अपने ही डर से लड़ते तुम, 
तुम्हें निर्भय बनते देख रही हूं..

अपनी अक्षमताओं को हराते तुम,
तुम्हें योग्यताओं में ढ़लते देख रही हूं..

तेरे उत्साह तेरे जीव से विशाल,
नाकामियों को पिघलते देख रही हूं..

फक़्र है तुमपर.. तुम्हारी कोशिशों पर,
अंधेरी धुंध छंटते देख रही हूं...     

मेरी आंखों से जन्मे हज़ारों सपने,
तेरी आंखों में पलते देख रही हूं...

मेरी कोशिशों को साकार करते तुम, 
मैं खुद को मां बनते देख रही हूं..

                                              I am so proud of you son !

19 comments:

  1. नमस्कार आपकी इस प्रविष्टी की चर्चा कल रविवार (21 -07-2013) के चर्चा मंच -1313 पर लिंक की गई है कृपया पधारें. सूचनार्थ

    ReplyDelete
  2. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete
  3. No matter how hard the situation, but we want u to win....dis one is for keshu....

    ReplyDelete
    Replies
    1. thanks Payal, thanks for blessing keshav !

      Delete
  4. बहुत सुन्दर प्रस्तुति!
    साझा करने के लिए शुक्रिया!

    ReplyDelete
    Replies
    1. आपकों धन्यवाद !

      Delete
  5. सुन्दर प्रस्तुति!

    ReplyDelete
  6. बहुत सुन्दर प्रस्तुति!

    ReplyDelete
  7. मेरी कोशिशों को साकार करते तुम,
    मैं खुद को मां बनते देख रही हूं.--माँ का सपने सच करती सुन्दर प्रस्तुति!
    latest post क्या अर्पण करूँ !
    latest post सुख -दुःख

    ReplyDelete
  8. प्यारी रचना है पारुल जी
    पहली बार आपके ब्लॉग को पढ़ा मुझे आपका ब्लोग बहुत अच्छा लगा ! आप बहुत ही सुन्दर लिखती है ! मेरे ब्लोग मे आपका स्वागत है

    राज चौहान
    http://rajkumarchuhan.blogspot.in

    ReplyDelete
  9. मेरी आंखों से जन्मे हज़ारों सपने,
    तेरी आंखों में पलते देख रही हूं...

    ...........बहुत ही सुन्दर भाव हैं कविता के डायरेक्ट दिल से :)

    ReplyDelete
  10. बहोत ही प्यारी रचना पारुल जी ....हर शब्द ..हर भाव... ममता के अभिमान से ओत प्रोत

    ReplyDelete
  11. बहुत ही सुंदर,

    यहाँ भी पधारे
    गुरु को समर्पित
    http://shoryamalik.blogspot.in/2013/07/blog-post_22.html

    ReplyDelete

आपके कमेंट्स बेहद अनमोल हैं मेरे लिए...मेरा हौसला बढ़ाते हैं...मुझे प्रेरणा देते हैं..मुझे जोड़े रखते आप लोगों से...तो कमेंट ज़रूर कीजिए।