Tuesday, March 29, 2011

एक शुरुआत..


चाय की चुस्कियों के साथ फिर एक नए दिन की शुरूआत
लेकिन आज कुछ खास है..

आज दिन के साथ कुछ नया करने की शुरूआत है..
कुछ करने, गढ़ने की लालसा,
मेरी उंगलियों ने कीबोर्ड पर कुछ उकेरना शुरू कर दिया है..
पर ये क्या है...
एक खूबसूरत ख्याल जो सुनने में भी स्वाद की ही तरह मीठा है...
आज से मैने रियाज़ शुरू कर दिया है..