Tuesday, September 6, 2011

HOME REMEDIES - अमरूद


अमरूद (Guava)-वैज्ञानिक नाम picidium guajava L. इसे हम जाम, जामफल, सफरी आदि के नाम से भी जानते हैं। अब अमरूद बाजारों में दिखने लगा है। अमरूद का स्वाद तो सबको भाता है पर स्वाद के साथ साथ इसके औषधीय गुण भी जान लें तो फ़ायदा ही फ़ायदा। अमरूद का गूदा लाल और सफेद दोनों रंगों में मिलता है। अमरूद में विटामिन बी और सी दोनों पाए जाते हैं।


औषधीय प्रयोग-
दंत रोग- 3-4 पत्तों को चबाने या पत्तों के काढ़े में फिटकरी मिलाकर कुल्ला करने से दांत दर्द दूर होता है।
मुंह के छाले- पत्तों में कत्था मिलाकर पान की तरह चबाने से छाले ठीक होते हैं।
ह्रदय- अमरूद के फल के बीज निकालकर शक्कर के साथ धीमी आंच पर बनाई हुई चटनी  ह्रदय के लिए फायदेमंद है। इससे कब्ज़ भी दूर होता है।
जुकाम- एक बड़ा अमरूद बीज निकालकर रोगी को खिलाएं और नाक बंद कर पानी पीने को कहें। 2-3 दिन में जुकाम बहकर निकल जाएगा।
खांसी और कफ- अमरूद के अर्क में शहद मिलाकर पीने से सूखी खांसी ठीक होती है। अमरूद को भूनकर खाने से खांसी जुकाम में फायदा होता है।
वमन (उल्टी आना)- अमरूद के पत्तों का क्वाथ 10 ग्राम पिलाने से वमन बंद हो जाती है।
कब्ज़- नाश्ते में अमरूद को कालीमिर्च, काला नमक, अदरक के साथ खाने से कब्ज़, अजीर्ण, गैस ठीक होगी।
गठिया- अमरूद के कोमल पत्तों को पीसकर गठिया के दर्द वाले हिस्सों पर लगाने से लाभ होता है।

1 comment:

आपके कमेंट्स बेहद अनमोल हैं मेरे लिए...मेरा हौसला बढ़ाते हैं...मुझे प्रेरणा देते हैं..मुझे जोड़े रखते आप लोगों से...तो कमेंट ज़रूर कीजिए।