Thursday, September 8, 2011

वास्तु- सूत्र 3

वास्तु के अनुसार ईशान कोण यानि उत्तर-पूर्व (NORTH-EAST) दिशा हमेशा हल्की होनी चाहिए। इस दिशा में toilet बिल्कुल नहीं होना चाहिए। ईशान कोण को हमेशा स्वच्छ तथा पवित्र रखना चाहिए। जहां तक हो सके इस दिशा को हराभरा रखें।
उपाय- इस दिशा में तुल्सी का पौधा लगाएं और नियमित रूप से दिया जलाना चाहिए।
यदि इस दिशा में toilet हो तो उसे बंद कर दें। वहां हल्के नीले रंग का बल्ब जलाएं, नमक से भरा एक पात्र रखें।
इस दिशा में पानी का घड़ा भरकर भी रखा जा सकता है। इससे जलतत्व में वृद्धि होगी और अच्छे  परिणाम देखने मिलेंगे।

1 comment:

आपके कमेंट्स बेहद अनमोल हैं मेरे लिए...मेरा हौसला बढ़ाते हैं...मुझे प्रेरणा देते हैं..मुझे जोड़े रखते आप लोगों से...तो कमेंट ज़रूर कीजिए।